Full width home advertisement

Post Page Advertisement [Top]

About us


admin of trueved website
vedant patil



Hi friends,
I am Vedant Patil मैं july2016 से Trueved.Com (TVC) पर blogging कर रहा हूँ.
मैं हमेशा कोशिश करता हूँ के अपने हर एक पोस्ट को quality content के रूप में प्रस्तुत करू,
जिसके आधार से कुछ मायने में ही सही हम सबकी thought process clear हो,
और आगे जाके यह हमारी personal development/self improvement में help करे.
आपका सहयोग ऐसे ही बना रहा तो जरूर मुझे भी थोड़ी सफलता भविष्य में जरूर मिलेगी.


➽ मैंने यह Blog(TVC) क्यों बनाया ?➽ लगभग तीन कारन हैं यह blog बनाने के :

🔺 Passion :

आज भी मेरा mind पूरी तरह से clear नही है ,के मेरा सबसे बड़ा passion क्या हैवो ऐसा 
कौनसा काम है जिसके लिए जिया जायेउस काम को करने में ख़ुशी होकुछ अच्छा और कुछ 
creative करने का satisfaction हो.




मेरी कही इन बातों का आप अच्छी तरह अपनी लाइफ से relate कर सकते हैक्योंकी passion ही तो है जो life में आपको real happiness देता है.




Blogging के जरिये में खुद हर रोज कुछ नया सिख रहा हूँ वही आपके साथ share भी कर रहा हूँ ,

Blogging मेरे intrests से relate करता हैऔर इस माध्यम से मुझे लगता हैमैं अपना 
real Passion को खोज सकता हूँ , और क्या पता blogging ही मेरा ultimate passion बन जाये.


🔺 Energy and Time :

मैंने अपने जीवन मे अब तक सबसे ज्यादा किसीसे कुछ सीखा है तो वो है Time.

जीवन मे हमारे पास काफी सिमित time हैंहमे इसे फ़ालतू कामों में इन्वेस्ट करने से ज्यादा 
जिस काम से हम प्यार करते है उसमें लगाना चाहिए,और मेरे लिए blogging उनमें से 
एक है,
photography,Shayri भी मैं कुछ हद तक ठिक ठाक कर लेता हूँ.

अपनी energy को सही जगह लगाने के लिए Trueved(TVC) यह ब्लॉग सही रहेगा यह 
मैं मानता हूँ.


🔺 Help :

लोगों की मदत करने के लिएआज हम सभी किसीभी प्रोब्लेम का solution google पे search करते हैंपर दिक्कत ये आती है कि ज्यादातर पोस्ट्स इंग्लिश में होती हैं
हिंदी जो की हमारी राष्ट्रभाषा हैं उसका content कम होता हैंमैं अपने हिसाब से यह प्रयास कर
रहा हूँ कि सबको valuable hindi content प्राप्त हो. 
और इसी काम के लिए मैंने आप सभी से एक request भी की है.


➽ मैं Hinglish का प्रयोग क्यों करता हूँ?

Hinglish का मतलब हैं ,इंग्लिश और हिंदी शब्दों को blend करकर उसे एक बोलचाल की  भाषा में लिखना .मैंने बोहोत से successful ब्लॉगर देखे हैं जो hinglish का प्रयोग करते है.


यदि मैं सिर्फ शुद्ध हिंदी प्रयोग करूँगा तो मेरा मानना है कि पढने में वो मज़ा नहीं आएगा और 
लोगो को वो काफी boring भी लगेगा,hinglish पोस्ट को पढ़ते वक्त लोग अच्छे से relate करपाते है.क्योंकि यह हमारे रोजमर्रा की भाषा जैसा फील देता हैं.

और एक कारण यह भी है कि लोग भले हिंदी में पढ़ते हों पर search इंग्लिश में ही ज्यादा करते हैं.


🔺 पढ़ाई :

●SSBT COET ,Bambhori, Jalgaon से Graduation 
(BE.Chemical Engg.)


●Smart brain technology,Malad,Mumbai से Post Graduation Course 
(Process Engg.)


🔺 मेरे शौक :
● Blogging
● Modeling
● Writing
● Photography
● Reading

Contact Me At-

Email :            trueved@gmail.com










No comments:

Post a Comment

Bottom Ad [Post Page]

| Design Colorlib